Himachal Poltics

हिमाचल की 3226 पंचायतें अप्रैल से हो जाएंगी कैशलेस

डिजिटल क्रांति की ओर बढ़ रहे भारत के पहाड़ी राज्य हिमाचल के नाम नए वित्त वर्ष की पहली अप्रैल को एक और उपलब्धि जुड़ जाएगी. हिमाचल की सभी 3226 पंचायतों में अप्रैल महीने से कैश और चैक पेमेंट बंद हो जाएगा. पंचायत अब हर तरह के भुगतान को प्रधान और सचिव के डिजिटल सिग्नेचर की ओर से सीधे बैंक खाते में ही करेंगी.

जय राम ठाकुर की सरकार ने इसके लिए पंचायती राज विभाग के अधिकारियों को भी जल्द से जल्द इसकी प्रक्रिया को पूरा करने के निर्देश दिए हैं. जानकारी के अनुसार प्रदेश के सभी ब्लॉक अधिकारियों कि ओर से पंचायतों को 2006 के चैक के साथ सभी आवश्यक दस्तावेज 15 जनवरी से पहले जमा करने को कहा गया है.

इन दस्तावेजों में पंचायत प्रधान और सचिव को अपने आधार कार्ड, पैन कार्ड की कॉपी ओर से दो फोटो उपलब्ध करवाने पड़ेंगे. प्रदेश में मौजूदा समय में केवल मनरेगा के काम की पेमेंट ही ऑनलाइन होता है, लेकिन अब इसे 100 फीसदी ऑनलाइन किया जा रहा है.

जिला में पंचायतें

कांगड़ा 748, मंडी 469, शिमला 363, चंबा 283, ऊना 234, हमीरपुर 229, सिरमौर 228, सोलन 211,कुल्लू 204, बिलासपुर 151,किन्नौर 65, लाहुल-स्पीति41

डिजिटल सिग्नेचर से यह मिलेगा लाभ

पंचायत में इस व्यवस्था के लागू होने के बाद कोई भी पेमेंट कैश या चैक से नहीं हो पाएगी. पंचायत से हर तरह के काम की पेमेंट डिजिटल सिग्नेचर से ही लाभार्थी या ठेकेदार को उसके खाते में मिलेगी. ऑनलाइन पेमेंट से पंचायत के काम में पारदर्शिता बढ़ेगी. इसके साथ ही ठेकेदारों को भी अब पंचायत के बार-बार चक्कर काटने से राहत मिलेगी.

Related posts

मंडी सीट: मंत्री अनिल शर्मा की दुविधा; ‘चौकीदार’ भी बने रहना है और कांग्रेस में ‘आश्रय’ भी लेना है

digitalhimachal

IPL 2019 में आज KKR vs KXIP, कोलकाता के खिलाफ रिकॉर्ड सुधारना चाहेगा पंजाब

digitalhimachal

ऊना: हरोली में 17 वर्षीय किशोर ने फंदा लगाकर की आत्महत्या

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy