Himachal Poltics

बीजेपी ने उम्मीदवारों की घोषणा के बाद चुनाव प्रचार तेज किया

भारतीय जनता पार्टी ने हिमाचल की चारों सीटों के लिए अपने प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया तो भाजपा के चारों उम्मीदवार ने अपने-अपने क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं में जोश भरने व लोगों के बीच अपने पक्ष में वोट मांगने का सिलसिला शुरू कर दिया हे । चंबा-कांगड़ा सीट के लिए प्रदेश के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री किशन कपूर को इस बार भाजपा ने प्रत्याशी के रूप में उतारा है। यह पहला मौका है कि किसी भी पार्टी ने चंबा-कांगड़ा लोक सभा सीट के लिए जिला चंबा के उम्मीदवार को मैदान में उतारा है।

किशन कपूर चंबा जिला के जनजातीय क्षेत्र भरमौर तालुक्क रखते हैं और उनका चंबा जिला से एक और नाता है क्योंकि उन्होंने चंबा की ही बेटी के साथ शादी की है। इसीलिए उनका चंबा जिला के साथ दोहरा नाता माना जा रहा है। इसी वजह से कार्यकर्ताओं और लोगों में काफी जोश देखने को मिल रहा है। एक नेता और एक जमाई होने की वजह से वह जहां भी लोगों के बीच जा रहे हैं लोग उन्हें हाथों-हाथ ले रहे हैं और भारी संख्या में लोग उनके स्वागत में पहुंच रहे हैं।

आज भी उन्होंने चंबा जिले के साहू क्षेत्र में भगवान चंद्रशेखर महादेव के मंदिर में माथा टेककर आशीर्वाद लिया और वहां एक अनुसूचित मोर्चा समेलन की जनसभा को भी संबोधित किया आने वाले समय में वह और भी क्षेत्र में जाकर अपने पक्ष में लोगों से वोट मांग कर जगह-जगह कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे।

किशन कपूर ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 1972 में कांग्रेस ने एक नारा दिया था कि कांग्रेस लाओ गरीबी हटाओ लेकिन गरीब तो हट गया लेकिन 70 सालो में कांगेस गरीबी नही हटा पाई। कांग्रेस ने सिर्फ जातियों और धर्म मे लोगो को बाटा है। उन्होंने कहा कि अगर किसी ने गरीबो की आवाज सुनी है तो वो है बीजेपी। पहले लोग बीमार होते थे तो उनका गरीबी के कारण इलाज नही हो पाता था। लेकिन अब ऐसा नही है आज आयुष्मान योजना के तहत 5 लाख तक इलाज संभव है।

Related posts

एचआरटीसी कर्मियों और पेंशनरों को बड़ा तोहफा, बीओडी में हुए ये फैसले

digitalhimachal

सतायी हुई महिलाओं को दस लाख देगी हिमाचल सरकार

digitalhimachal

मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद रेज़िडेंट डॉक्टर्स ने वापस ली हड़ताल

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy