Poltics Trending

DM ने जूनियर महिला अधिकारी से कहा: ‘अगर SDM बनना है तो कैसे भी करके BJP को जिताओ’, पढ़ें कथित वायरल Chat

उन्होंने चैट में पूजा तिवारी से कहा कि मुझे कांग्रेस क्लीन स्वीप चाहिए. मैं आरओ डेहरिया को फोन कर देती हूं.पूजा तुम्हें अगर एसडीएम का चार्ज लेना है तो जैतपुर में बीजेपी को विन कराओ.

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान कलेक्टर अनुभा श्रीवास्तव का एक कथित चैट इन दिनों खासा वायरल हो रहा है. इस चैट में अनुभा अपनी जूनियर अधिकारी पूजा तिवारी से बीजेपी को जीताने के लिए कुछ भी करने के लिए कह रही है. साथ ही वह कह रही हैं कि ‘अगर चुनाव बाद तुम्हें तुरंत एसडीएम का चार्ज संभालना है तो किसी भी तरह बीजेपी को जिताओ. उन्होंने चैट में पूजा तिवारी से कहा कि मुझे कांग्रेस क्लीन स्वीप चाहिए. मैं आरओ डेहरिया को फोन कर देती हूं. पूजा तुम्हें अगर एसडीएम का चार्ज लेना है तो जैतपुर में बीजेपी को विन कराओ.’

इस पर पूजा तिवारी ने अनुभा को जवाब में ‘ओके मैम’ लिखा. साथ ही पूजा ने कहा कि ‘मैं मैनेज करती हूं बट कोई इंक्वायरी तो नहीं होगी.’ इस पर अनुभा ने उन्हें भरोसा दिलाते हुए लिखा कि मैं हूं. मेहनत कर रही हो तो बीजेपी गवर्नमेंट बनते ही तुम्हें एसडीएम का चार्ज मिलेगा. बता दें कि अनुभा शहडोल की कलेक्टर हैं. गौरतलब है पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बीजेपी की तुलना में ज्यादा सीटें मिली थी. इसके बाद ही उसने सपा-बसपा जैसी पार्टियों के समर्थन से राज्य में अपनी सरकार बनाई.

डिप्टी कलेक्टर पूजा तिवारी ने इस चैट को फर्जी बताते हुए कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवा दी है. उन्‍होंने कहा, ‘मेरा और कलेक्टर मैडम के नाम से किसी ने ग़लत मैसेज व्हाट्सऐप में चलाया उसकी हमें जैसे ही पता चला फौरन उसकी एफआईआर मैंने कोतवाली थाने में करवा दी. ऐसा कुछ हुआ ही नहीं, वो फोन नंबर भी फर्ज़ी था. जो हमारा ग्रुप है डिप्टी कलेक्टर का उसमें भी ये मैसेज गया सीधे… उन्होंने मुझे कहा पूजा देखो ये क्या हो रहा है तो हम सबने चर्चा करके एफआईआर करवाई. मैडम ने भी सारे वरिष्ठ अधिकारियों को ये बताया. मेरी छवि ख़राब करने के लिये ये मैसेज चला रहे हैं.’

मामले में ज़िले के एसपी कुमार सौरभ ने बताया, ‘डिप्टी कलेक्टर ने शिकायत कराई कि पिछले कुछ दिनों से उन्हें अंजान नंबर से अश्लील मैसेज आ रहे हैं. किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनके फोन को हैक करके दुष्प्रचार किया गया, झूठे चैट को प्रचारित करके उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया.

कमलनाथ ने राज्य के सीएम के तौर पर पद संभाला. हालांकि सरकार में आने के कुछ समय बाद ही सरकार विवादों में तब घिर गई जब कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्य प्रदेश सरकार में श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने अधिकारियों व कर्मचारी को लेकर एक बयान दिया.

उन्होंने कहा था कि जो भी अधिकारी या कर्मचारी काम नहीं करेगा, उसे लात मारकर बाहर कर देंगे. मंत्री के इस बयान का वीडियो वायरल हो गया था. मंत्री सिसोदिया अपने विधानसभा क्षेत्र बमोरी के हिनोतिया गांव पहुंचे थे. वहां उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से कहा था कि मैं कैबिनेट मंत्री नहीं बना, बल्कि बमोरी का हर आदमी, हर कार्यकर्ता कैबिनेट मंत्री है. आपको कोई परेशानी नहीं आएगी. कोई भी काम हो तो अधिकारी को फोन करो, जो नहीं सुने, उसके बारे में मुझे बताओ. मैंने बैठक में कह दिया है. अगर कोई अधिकारी या कर्मचारी काम नहीं करेगा तो उसे लात मारकर बाहर कर देंगे.’

Related posts

”चोर है च़ौकीदार’ के नारे के साथ जनता तक जाएगी युवा कांग्रेस’

digitalhimachal

पटना के छात्र नेता से लेकर BJP के कार्यकारी अध्यक्ष तक: रोचक है जेपी नड्डा का सफ़र

digitalhimachal

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से मिलें

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy