Himachal Kinnaur News in Hindi Kullu News in Hindi

हिमाचल में ‘कुदरत’ ने ढहाया कहर:कुल्लू में बादल फटने से आई बाढ़ में 4-5 लोग लापता, 5 गाय बहीं, 140 सड़कें बंद

हिमाचल प्रदेश में कुदरत ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। बीती रात कुल्लू, शिमला और किन्नौर जिला में हुई भारी बारिश ने खूब तबाही मचाई। कुल्लू के चोज गांव में आज सुबह 6 बजकर 5 मिनट पर बादल फटने से 4 से 6 लोग लापता हो गए। 5 गाय और उनके बछड़े भी पानी में बह गए हैं। कई घरों व घ्राट को नुकसान पहुंचा है।

मलाणा प्रोजेक्ट में फंसे 25 से 30 लोग

कुल्लू के ही मलाणा गांव में भारी बारिश होने के बाद सुबह 7.30 बजे आई बाढ़ से काफी नुकसान हुआ। इससे मलाणा प्रोजेक्ट और भुंतर तहसील भवन को काफी नुकसान हुआ है। बाढ़ के बाद इस भवन में 25 से 30 लोग फंस गए, जिन्हें राहत एवं बचाव दल ने कुछ देर बाद सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया।

किन्नौर में बाढ़

उधर किन्नौर थुंगी खड्‌ड में भी आज सुबह 8.05 बजे बाढ़ ने खूब तबाही मचाई है। वहीं शिमला में आज सुबह भूस्खलन होने से एक की मौत और दो व्यक्ति घायल हो गए। शिमला के अलग अलग क्षेत्रों में आधा दर्जन गाड़ियां मलबे में दब गई है।

2 नेशनल हाईवे समेत 140 सड़कें बंद

हिमाचल के अधिकांश भागों में बीती रात से ही भारी बारिश हो रही है। इससे जगह-जगह भूस्खलन की घटनाएं हुई हैं। इसके बाद नेशनल हाईवे-3 कुल्लू-मनाली, शिमला-किन्नौर को जोड़ने वाले NH-5 समेत रामपुर में और चौपाल को जोड़ने वाली सड़क समेत प्रदेशभर में 160 से ज्यादा सड़कें अवरूद्ध बताई जा रही हैं। प्रदेशभर में 90 से ज्यादा विद्युत ट्रांसफार्मर भी ठप बताए जा रहे हैं। रामपुर के ब्रुरी खड्‌ड में एनएच को बहाल कर दिया गया है।

आज भारी बारिश होने का ऑरेंज अलर्ट

मौसम विभाग ने आज प्रदेश के मैदानी, कम ऊंचे और मध्यम ऊंचाई वाले इलाकों में भारी बारिश होने का ऑरेंज अलर्ट जारी कर रखा है, जबकि 9 जुलाई तक हैवी रेन का येलो अलर्ट जारी किया गया है और 10 जुलाई को भी कुछेक स्थानों पर तेज बारिश होने की चेतावनी दी गई है।

एंट्री के बाद धीमा पड़ने लगा था मानसून

प्रदेश में मानसून ने गत 29 जून को दस्तक दी है। अच्छी एंट्री के बाद मानसून धीमा पड़ने लगा था, लेकिन बीती रात को अच्छी बारिश हुई है और आने वाले दिनों में भी अच्छी बारिश होने की संभावना है।

उफनते नदी-नालों के आसपास न जाने की सलाह

रात को हुई भारी बारिश के बाद कई नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। राज्य सरकार ने प्रदेशवासियों और यहां आने वाले सैलानियों को उफनते हुए नदी-नालों के समीप नहीं जाने की सलाह दी है। इसी तरह भूस्खलन संभावित क्षेत्रों में नहीं जाने की एडवाइजरी भी जारी की गई है। लोगों को कहा गया है कि वे संभलकर ड्राइव करें। अन्य राज्यों के लोग हो सके तो अभी हिमाचल न ही आएं।

अनी में सड़क धंसने से लुढ़का टिपर

उधर आनी तहसील कार्यालय के पास सड़क धंसने से एक टिपर सड़क से बाहर लुढ़क गया। इस घटना में चालक तो बाल बाल बच गया लेकिन टिपर को काफी नुकसान हुआ है।

ठियोग में मलबे में दबीदबी गाड़ियां निकालते हुए लोग

ठियोग उप मंडल की घोड़ना पंचायत के शिरगुल में मलबे में कई वाहन दब गए। कई घरों को भी बारिश और सेब बगीचों को भी नुकसान हुआ है।

ठियोग के ही बलसन क्षेत्र में भी भारी बारिश के बाद भूस्खलन से चिल्ला गांव के पदम चौहान के घर को भारी नुक़सान हुआ है।

Related posts

कुल्लू से लाकर चंबी में ठिकाने लगाया था शव

digitalhimachal

संस्कृत होगी हिमाचल की दूसरी राजभाषा, विधानसभा में बिल पेश

digitalhimachal

रैली स्थल पर पहुंचे राहुल गांधी, मंच पर जोरदार स्वागत

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy