National Poltics West Bengal

‘स्पीड ब्रेकर’ दीदी वाले कमेंट पर ममता बनर्जी का पलटवार, पीएम मोदी को कहा ‘एक्सपायरी बाबू’

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि वह एक्सपायरी बाबू हैं और उनकी सरकार भी कुछ दिन बाद एक्सपायर होने वाली है. उन्होंने कहा कि पीएम (PM Modi) ने सिलीगुड़ी में कहा कि टीएमसी ने कोई काम नहीं किया है, मैं पूछती हूं कि आपने पांच साल में क्या किया है.

नई दिल्ली: 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने पीएम मोदी (PM Modi) के ‘स्पीड ब्रेकर’ कमेंट पर पलटवार किया है. उन्होंने (Mamata Banerjee) पीएम मोदी को ‘एक्सपायरी बाबू’ कहा है. ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि वह एक्सपायरी बाबू हैं और उनकी सरकार भी कुछ दिन बाद एक्सपायर होने वाली है. उन्होंने कहा कि पीएम (PM Modi) ने सिलीगुड़ी में कहा कि टीएमसी ने कोई काम नहीं किया है, मैं आपसे पूछती हूं कि आपने पांच साल में क्या किया है. मैं बताती हूं कि आपने सिर्फ झूठ बोला है. कूच बिहार जिले में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए ममता ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में उनकी सरकार ने लोगों के लिए अनेक कल्याणकारी कार्य किये हैं. उन्होंने कहा कि उनके शासन में बंगाल में किसानों की आय में तीन गुना वृद्धि हुई है.

धानमंत्री मोदी का ‘एक्सपायरी बाबू’ और ‘एक्सपायरी पीएम’ के रूप में मजाक उड़ाते हुए ममता बनर्जी ने उन्हें टीवी पर या जनसभा में खुली बहस करने की चुनौती दी. उन्होंने कहा कि मैं मोदी नहीं हूं, मैं झूठ नहीं बोलती. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल में टीएमसी के कार्यों को लेकर झूठ बोला है. उन्होंने दावा किया कि मोदी के शासन में देश में 12,000 किसानों ने खुदकुशी की. तृणमूल सुप्रीमो का यह पलटवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सिलीगुड़ी और कोलकाता में भाजपा की रैली के दौरान किए गए हमलों के बाद आया है. गौरतलब है कि इससे पहले पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्हें स्पीड ब्रेकर कहा था. पीएम मोदी ने कहा था कि पश्चिम बंगाल में एक स्पीड ब्रेकर है, जिनको आप दीदी के नाम से जानते हैं. दीदी को गरीबों की चिंता नहीं है. आखिर दीदी को गरीबी की राजनीति करनी है, वो गरीबी खत्म करने के लिए कैसे काम कर सकती हैं? अगर गरीबी ही खत्म हो जाएगी, तो दीदी की पॉलिटिक्स खत्म हो जाएगी.

पीएम मोदी ने कहा था कि पश्चिम बंगाल में चिटफंड घोटाला हुआ. मेरे गरीब भाइयों और बहनों का पैसा लेकर दीदी के मंत्री, दीदी के विधायक, दीदी के साथी भाग गए, उन्होंने गरीबों को लूट लिया. गरीब की चिंता को समझते हुए केंद्र की एनडीए सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की. गरीब को कहा था कि बीमारी की स्थिति में 5 लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त होगा, आपको एक भी रुपया अस्पताल में खर्च नहीं करना पड़ेगा. किन स्पीड ब्रेकर दीदी ने क्या किया? गरीब का भला करने वाली इस योजना पर पश्चिम बंगाल में ब्रेक लगा दिया.

दीदी ने पश्चिम बंगाल के 70 लाख से ज्यादा किसान परिवारों के विकास पर भी ब्रेक लगा दिया है. देश के तमाम राज्यों में पीएम किसान सम्मान योजना के तहत किसानों के बैंक खाते में सीधे पैसे ट्रांसफर किए जा रहे हैं. लेकिन दीदी तो दीदी हैं. पीएम किसान सम्मान योजना पर भी उन्होंने पश्चिम बंगाल में ब्रेक लगा दिया. इधर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी बुधवार को उत्तर बंगाल के कूच बिहार से अपने चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगी. ममता की रैली कूच बिहार के दिनहटा में होगी. तृणमूल कांग्रेस नेताओं के मुताबिक ममता पहले 4 अप्रैल को अपने अभियान की शुरुआत करने वाली थी लेकिन बाद में उन्होंने BJP से सीधे टक्कर लेते हुए एक दिन पहले ही अभियान शुरू करने का फ़ैसला किया.

Related posts

अयोध्या विवाद: गुरुवार से संविधान पीठ करेगी नियमित सुनवाई

digitalhimachal

Lok sabha election 2019: हिमाचल में आखिरी चरण में होगा मतदान, चार दिन ही करना होगा परिणाम का इंतजार

digitalhimachal

कांग्रेस में चारों टिकट झटक सकता है वीरभद्र सिंह खेमा

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy