Bollywood News in Hindi Poltics

Pm Narendra modi फिल्म का लोग डर के कारण कर रहे हैं विरोध – संदीप सिंह

राहुल सोनी। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी बायोपिक पीएम नरेंद्र मोदी की रिलीज तारीख 5 अप्रैल तय की गई है। लेकिन इसको लेकर लगातार विवाद की स्थित बनी हुई है। फिल्म के को-प्रोड्यूसर संदीप सिंह ने जागरण डॉट कॉम से खास बातचीत में बताया कि, जो लोग विरोध कर रहे हैं उन्हें डर है कि उनकी सत्ता न चली जाए।

संदीप सिंह ने फिल्म के विरोध को लेकर कहा कि, ‘जो लोग Pm Narendra modi फिल्म को प्रोपेगेंडा फिल्म बता रहे हैं वो लोग सिर्फ और सिर्फ इस फिल्म से डरे हुए हैं। उन्हें डर है कि यह फिल्म उनके वोटर्स लेकर चली जाएगी। एक फिल्म से डर कर वो लोग इस फिल्म को बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) की फिल्म बता रहे हैं या प्रोपेगेंडा फिल्म बता रहे हैं। मेरे हिसाब से वो लोग अपने काम पर ध्यान दें। और इन लोगों ने जो इतने सालों में काम किया है उस काम को ही जनता के सामने पेश करें तो आराम से वोट मिल सकते हैं। चाहे कोई भी पार्टी हो जैसे एनसीपी, मनसे, डीएमके या कांग्रेस। उन्हें फिल्कार को टारगेट करना, अटैक करना छोड़ देना चाहिए। इस प्रकार फिल्म बिना देखे ही प्रेपगेंडा फिल्म बताना एक कलाकार की ना कद्र करना है।’

फिल्म रिलीज की तारीख को लेकर संदीप सिंह ने कहा कि, फिल्म रिलीज को लेकर हम कॉन्फीडेंट हैं। कोई भी फिल्म कभी भी रिलीज हो सकती है। या नहीं भी हो सकती है। हर इंसान को सही वक्त का इंतजार होता है। जैसे ही अगर कोई नौकरी करता है तो उसे सैलरी का इंतजार महीने के आखिर में होता है। कई फिल्मों की तो तारीख बनने से पहले ही तय हो जाती है। क्योंकि फिल्म बनाना एक रिस्क है और उस रिस्क को रीकवर करना आसान नहीं होता। एक फिल्म से आपकी जिंदगी बन सकती है और बर्बाद भी हो सकती है। इसलिए सही वक्त का इंतजार होता है। अब मेरी फिल्म में अक्षय, आमिर, शाहरुख़ या सलमान तो है नहीं। मुझे लगा कि मेरी फिल्म की कहानी का सही समय अभी है। और लग रहा है कि मीडिया इंट्रेसेट भी ले रहा है। देखा जाए तो नरेंद्र मोदी इतने बड़े शख्स हैं अगर वो अच्छा काम भी करते हैं तो भी गलत कहा जाता है और बुरा करते हैं तो भी, उंगली उठाई जाती हैं। पुलवामा आतंकी हमले के बदले की गई सर्जिकल स्ट्राइक 2 को ही देख लें। सब सबूत मांगने में लगे हैं। और यह फिल्म उन्होंने नहीं बल्कि प्राइवेट तौर पर हमने बतौर फिल्ममेकर बनाई है तो लोगों को उस पर भी आपत्ती है। अब लोग ही समझ लें कि क्या सही है और क्या गलत। जब रिलीज होगी तब सबको पता भी चल जाएगा। फिल्मों ने हमेशा कई सारे मुद्दों को गलत साबित भी किया है। जैसे पद्मावत और माय नेम इज़ खान।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात को लेकर संदीप सिंह ने कहा कि, मोदी जी से मिलने की इच्छा सबकी है। लेकिन मेरी मुलाकात नहीं हुई है। और वे तो वैसे भी सब से मिल चुके हैं। उनकी जिंदगी खुली किताब की तरह है। तो फिल्म बनाने के लिए उनसे मिलने की जरूरत इसलिए नहीं लगी क्योंकि बतौर प्रोड्यूसर मेरे पास उनके कई आर्टिकल, किताबें, इंटरव्यू, वीडियो इंटरव्यू हैं। साथ ही वे मन की बात पर भी आते हैं। तो उनको लेकर कुछ भी चीज छिपी नहीं है पूरा मटेरियल हमारे सामने था। वे दुनिया के मोस्ट अप्रोचेबल प्राइममिनिस्टर हैं। बस मुझे उनकी जिंदगी की कहानी अच्छी लगी तो मैंने राइटर से बात करके इस पर फिल्म बनाना शुरू किया। क्योंकि उनकी जिंदगी प्रेरित करती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर बनी विवेक आनंद ओबरॉय स्टारर फिल्म पी एम नरेंद्र मोदी बनाने वालों के समक्ष एक संकट खड़ा हो गया है। चुनाव आयोग ने फिल्म के निर्माता को नोटिस भेज कर 30 मार्च तक जवाब मांगा था कि क्या ये फिल्म चुनाव आचार संहिता के दायरे में नहीं आती। दिल्ली के चीफ़ इलेक्शन ऑफ़िस के मुताबिक ये फिल्म आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करती है। साथ ही दूसरी राजनीतिक पार्टी ने फिल्म को बीजेपी का प्रोपगेंडा करने वाली फिल्म बताया है और कहा है कि यह लोकसभा चुनाव में फायदा लेने के लिए बनाई गई है। इस फिल्म में को-प्रोड्यूसर के रूप में संदीप सिंह भी हैं जबकि नेशनल अवॉर्ड विनर ओमंग कुमार फिल्म का डायरेक्शन कर रहे हैं, जिन्होंने मैरी कॉम और सरबजीत नाम की दो चर्चित फिल्में बनाई हैं। फिल्म के बारे में नयी खबर यह है कि इस फिल्म की रिलीज तारीख पांच अप्रैल से बढ़ा कर 11 अप्रैल कर दी गई है।हालांकि अब तक इसे लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।

source

Related posts

रणवीर-दीपिका एक-दूसरे के लिए हैं परफेक्ट मैच, उम्र से लेकर हाइट सब है एकदम परफेक्ट!

digitalhimachal

वरुण धवन और अनिल कपूर भारत को नंबर वन बनाने के लिए भूषण कुमार के साथ ऐतिहासिक दौड़ में हुए शामिल!

digitalhimachal

पहली बार जीएफ आलिया भट्ट को बाहों में लेकर झूमे रणबीर कपूर, देखें डांस वीडियो

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy