Bollywood News in Hindi

Surgical Strike 2.0 के लिए जहां से उड़े थे मिराज, उसकी सुरक्षा में हमेशा तैनात रहती हैं मिसाइलें

ग्वालियर। महाराजपुरा एयरबेस की सुरक्षा कई चक्रों में हैं। एयरबेस की सुरक्षा के लिए जमीन से आकाश में मार करने वाली मिसाइलें भी तैनात हैं। एयरबेस की निगरानी के लिए उच्च तकनीक के रडार लगे हैं। इसके अलावा टॉवरों पर विशेष रूप से प्रशिक्षित कमांडो अत्याधुनिक हथियारों के साथ तैनात रहते हैं। इनकी नजरें हर पल कैंपस की सुरक्षा पर रहती है। बाउंड्रीवॉल लांघने की कोशिश करने पर गोली मारने की चेतावनी बाउंड्रीबॉल पर साफ लिखी है।

क्षेत्र के लोग भी रहते हैं अलर्ट

वायुसेना एयरबेस होने के कारण महाराजपुरा के आसपास के ग्रामीण व क्षेत्रीय नागरिक पूरी तरह से अलर्ट रहते हैं। संदिग्ध व्यक्ति नजर आते ही इसकी सूचना पुलिस व वायुसेना के अधिकारियों तक पहुंच जाती है। संदिग्ध व्यक्ति के पकड़े जाने पर उसका तीन पुश्तों का पता लगाने के बाद उसे क्लीनचिट दी जाती है।

कई जासूस भी पकड़े जा चुके हैं

वायुसेना का प्रमुख एयरबेस होने के कारण पिछले डेढ़ दशक में आधा दर्जन से अधिक जासूस पकड़े जा चुके हैं। एक स्लिपर सेल को नईसड़क से पकड़ा था। इस स्लिपर सेल ने स्थानीय युवती से शादी करने की कोशिश की थी। लेकिन यह जासूस अब तक गोपनीय सूचनाएं एकत्रित करने में नाकाम रहे हैं। क्योंकि एयरबेस अभेद सुरक्षा के इंतजाम हैं।

संदिग्ध दिखे तो दें सूचना

पुलवामा में हमले के बाद वायुसेना के अधिकारी एयरबेस के चारों तरफ बसे गांवों में ग्रामीणों को अलर्ट कर रहे हैं कि एयरबेस के आसपास कोई अपरिचित साधु-संत, फकीर, पागल व्यक्ति, भिखारी व संदिग्ध गतिविधियों वाले व्यक्ति की तत्काल सूचना दें।

Related posts

आर्मी डे: 5 फिल्मों को देखकर आज भी बढ़ जाता है जोश, किसी को मिला ‘लक्ष्य’ तो किसी को ‘बॉर्डर’

digitalhimachal

दीपिका ने रणवीर सिंह को शादी की इन तीन चीजों को करने से प्रतिबंधित कर दिया है

digitalhimachal

कटरीना कैफ को रोहित शेट्टी की फिल्म ‘सोर्यवंशी’ में अक्षय कुमार के साथ लिया जाएगा?

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy