Himachal Mandi News in Hindi Poltics

मंडी लोकसभा सीट के लिए भाजपा में टिकट की जंग दिल्ली पहुंची

Lok Sabha Elections 2019 :हिमाचल में लोकसभा चुनाव के लिए सबसे हॉट बनी मंडी सीट के लिए भाजपा में टिकट की जंग अब दिल्ली तक पहुंच गई है। पंडित सुखराम ( Pandit Sukh Ram) के पोते आश्रय शर्मा ( Ashrya Sharma )के पीछे-पीछे टिकट के एक अन्य दावेदार कारगिल हीरो व ब्रिगेडियर खुशहाल सिंह ठाकुर (Brigadier Khushal Thakur) भी दिल्ली पहुंच गए हैं।

टिकट के तीसरे चाहवान पूर्व सांसद महेश्वर सिंह पहले से ही वहां डेरा डाले हुए हैं। ये नेता केंद्रीय नेतृत्व के समक्ष अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं और सीएम जयराम ठाकुर के गृह क्षेत्र से सिटिंग सांसद रामस्वरूप की जगह अपने लिए टिकट मांग रहे हैं।

प्रचार अभियान छोड़कर आश्रय शर्मा दिल्ली में डटे दादा सुखराम की शरण में पहुंच गए हैं, वहीं बिग्रेडियर खुशहाल ठाकुर ने भी शनिवार को दिल्ली का रुख कर लिया।

मंडी संसदीय क्षेत्र की सियासत में समीकरण बनाने और बिगाड़ने के लिए मशहूर पंडित सुखराम और महेश्वर सिंह भी अपने समर्थकाें सहित दिल्ली में डटे हैं। ये सब नेता अपनी सियासी गोटियां फिट करने में जुटे हैं।

मौजूदा सांसद भी प्रचार में कूदे

ऐसे में भाजपा के लिए सिरदर्द बने आश्रय और कतार में लगे महेश्वर के अलावा खुशहाल भाजपा आलाकमान के सामने अपना-अपना पक्ष मजबूती से रखेंगे। इस सबके बीच मौजूदा सांसद रामस्वरूप मंडी संसदीय क्षेत्र में चुनावी प्रचार में कूदे हुए हैं।

उनके पक्ष में खुद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर प्रचार अभियान भी शुरू कर चुके हैं।दूसरी तरफ भाजपा में मचे घमासान के बीच कांग्रेस के टिकट के दावेदार कौल सिंह ठाकुर ने दिल्ली का रुख कर लिया है।

2014 में भी था पैनल में नाम, अब भी लड़ने को तैयार-ब्रिगेडियर खुशहाल ठाकुर
हार मानने वालों में से नहीं हूं। सही समय का इंतजार है-आश्रय शर्मा

Related posts

फाइटर पायलट 2 मिनट में उड़ान को तैयार, युद्ध में होता है ऐसा

digitalhimachal

हिमाचली बेटे अजय ठाकुर को मिला ‘पद्मश्री’ पुरस्कार, राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

digitalhimachal

Road Accident: हिमाचल के कुल्लू में बड़ा सड़क हादसा, खाई में गिरी निजी बस, 12 लोगों की मौत, मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy