congress Poltics Priyanka Gandhi

इससे बड़ी कोई देश​भक्ति नहीं ​है कि आप जागरूक नागरिक बनें: प्रियंका गांधी

गुजरात के अहमदाबाद में एक जनसभा में प्रियंका गांधी ने कहा कि आने वाले दो महीनों में आपके सामने तमाम मुद्दे उछाले जाएंगे, आपकी जागरूकता ही इस देश को बनाएगी. ये आपकी ज़िम्मेदारी है.

अहमदाबाद: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा पर हमला बोलते हुए दावा किया कि देश में चारों तरफ़ नफ़रत फैलाई जा रही है जिसका सभी को मिलकर मुक़ाबला करना है.

उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि असल मुद्दों से ध्यान भटकाने की लगातार कोशिश की जाएगी, लेकिन वे रोज़गार, किसानों और महिला सुरक्षा के मुद्दों को लेकर सवाल पूछते रहें.

प्रियंका ने अहमदाबाद में कांग्रेस की एक जनसभा में कहा, ‘मुझे मालूम था कि आज बैठक है, लेकिन मन में सोचा था कि भाषण नहीं देना पड़े. मैं भाषण नहीं दे रही, बल्कि अपने दिल की बात कर रही हूं. पहली बार गुजरात आई हूं और पहली बार उस साबरमती आश्रम गई जहां से महात्मा गांधी ने आज़ादी के लिए संघर्ष की शुरुआत की थी. वहां बैठकर लगा कि आंखों से आंसू आ जाएंगे. उन लोगों की याद आई जिन्होंने देश के लिए अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया, जिनके बलिदानों पर इस देश की नींव पड़ी है.’

उन्होंने कहा, ‘यह देश प्रेम, सद्भावना और आपसी प्यार के आधार पर बना है. आज जो कुछ देश में हो रहा है उससे दुख होता है.’

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘मैं दिल से कहना चाहती हूं. इससे बड़ी कोई देशभक्ति नहीं है कि आप जागरूक नागरिक बनें. आपकी जागरूकता एक हथियार है, आपका वोट एक हथियार है, लेकिन ये एक ऐसा हथियार है, जिससे किसी को चोट नहीं पहुंचती, किसी को दुख नहीं होता. केवल आप ही इस देश को बचा सकते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘ये एक ऐसा हथियार है जो आपको मज़बूत बनाएगा. आपको बहुत गहराई से सोचना पड़ेगा कि ये चुनाव क्या है. इसमें आप क्या चुनने जा रहे हैं, आप अपना भविष्य चुनने जा रहे हैं.’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘फिज़ूल के मुद्दे नहीं उठने चाहिए, जो मुद्दे उठने चाहिए वो ये होने चाहिए- आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण क्या है, आप आगे कैसे बढ़ेंगे, नौजवानों को रोज़गार कैसे मिलेगा. ये चुनावी मुद्दे हैं और आपकी जागरूकता ही इन मुद्दों को आगे ला सकती है. तो इस बार सोच समझ कर आप लोग निर्णय लें.महिलाएं सुरक्षित कैसे महसूस करेंगी, आगे कैसे बढ़ेंगी, किसानों के लिए क्या किया जाएगा.’

उन्होंने नरेंद्र मोदी का नाम लिए बगैर उन पर निशाना साधते हुए कहा, ‘आपके सामने जो बड़ी-बड़ी बातें करते हैं उनसे पूछिए कि जिन्होंने दो करोड़ रोज़गार देने का वचन दिया था, वो रोज़गार कहां हैं? उनसे पूछिए कि जो 15 लाख रुपये आपके खाते में आने थे, वो 15 लाख कहा गए? जिन महिलाओं की सुरक्षा की बात करते थे, उन महिलाओं को इन पांच सालों में किसने पूछा?’

उन्होंने कहा, ‘आने वाले दिनों में सही निर्णय लीजिए. सही सवाल करिए. यह देश आपने बनाया है. यह (चुनाव) आज़ादी की लड़ाई से कम नहीं है. संस्थाएं नष्ट की जा रही हैं. जहां देखिए वहां नफ़रत फैलाई जा रही है. हम मिलकर काम करें और एकजुट होकर आगे बढ़ें.’

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘आगे आने वाले दो महीनों में आपके सामने तमाम मुद्दे उछाले जाएंगे, आपकी जागरूकता ही इस देश को बनाएगी. ये आपकी ज़िम्मेदारी है, आपकी देशभक्ति इसी में प्रकट होनी चाहिए.’

हार्दिक पटेल कांग्रेस में शामिल

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के नेता हार्दिक पटेल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी की मौजूदगी में मंगलवार को पार्टी में शामिल हो गए.

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सक्रिय राजनीति में प्रवेश करने के फैसले पर सफाई देते हुए पटेल ने कहा कि वह अब गुजरात के छह करोड़ लोगों के लिए बेहतर तरीके से काम कर सकते हैं.

गांधीनगर ज़िले में अदालज गांव के समीप कांग्रेस की एक रैली में पार्टी में शामिल होने के बाद हार्दिक ने अपने संबोधन के दौरान जनसभा में लोगों से पूछा कि क्या यह सही फैसला है.

इस पर लोगों ने कहा, ‘हां.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए पटेल ने कहा कि जब कांग्रेस ने पिछले महीने पुलवामा हमले के बाद 28 फरवरी को होने वाली अपनी रैली को टालने का फैसला किया तो उस समय प्रधानमंत्री देशभर में रैलियां कर रहे थे.

25 वर्षीय पाटीदार नेता ने कहा, ‘लोग मुझसे पूछते हैं कि मैंने कांग्रेस और राहुल गांधी को क्यों चुना. मैंने राहुल गांधी को चुना क्योंकि वह ईमानदार हैं। वह तानाशाह की तरह काम करने में विश्वास नहीं करते.’

लोकसभा चुनाव में सच की जीत होगी, मोदी और नफ़रत की हार होगी: राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बेरोज़गारी, किसानों की समस्या, नोटबंदी, जीएसटी और आतंकी मसूद अज़हर की वर्षों पहले हुई रिहाई के मुद्दों को लेकर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और दावा किया कि इस लोकसभा चुनाव में सच की जीत होगी और मोदी एवं नफ़रत की हार होगी.

कांग्रेस की एक जनसभा में गांधी ने यह भी कहा कि एक तरफ हर जगह नफ़रत फैलाई जा रही है और लोगों को बांटा जा रहा है तथा दूसरी तरफ यह सरकार 15 सबसे अमीर लोगों को फायदा पहुंचा रही है.

 

 

उन्होंने कहा, ‘एक तरफ नफ़रत है यानी गोडसे है. दूसरी तरफ प्यार है यानी महात्मा गांधी और गुजरात का इतिहास है. जीत महात्मा गांधी की होगी.’

उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी 15 सबसे अमीर लोगों के साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये का क़र्ज़ माफ करते हैं, लेकिन किसानों का एक रुपये क़र्ज़ माफ़ नहीं करते हैं. फसल बीमा योजना का फायदा भी उन्ही 15 लोगों की कंपनियों के पास चला जाता है.’

गांधी ने कहा, ‘पुलवामा में मसूद अज़हर ने हमला किया. मैं नरेंद्र मोदी जी से पूछना चाहता हूं कि क्या भाजपा की सरकार और वाजपेयी की सरकार मसूद अज़हर को कंधार नहीं पहुंचाया. अजीत डोभाल उसे लेकर गए थे.’

उन्होंने दावा किया कि जिस दिन पाकिस्तान के साथ तनाव था उसी दिन नरेंद्र मोदी ने अपने मित्र को पांच हवाई अड्डे बेच दिए.

विफलताओं से ध्यान भटकाने के लिए लोगों की भावनाओं का दोहन कर रहे हैं प्रधानमंत्री: कांग्रेस

कांग्रेस ने अपनी सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला और आरोप लगाया कि वह अपनी विफलताओं से ध्यान भटकाने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर लोगों की भावनाओं का दोहन कर रहे हैं.

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस कार्य समिति की महत्वपूर्ण बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने संवाददाताओं से कहा, ‘हम आतंकवाद और अपनी मातृभूमि पर होने वाले किसी भी हमले का मुक़ाबला करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं. हमने हमेशा एक आवाज़ में बात की है.’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रधानमंत्री देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं. वह लोकसभा चुनाव से पहले अपनी विफलताओं से ध्यान भटकाने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा पर लोगों की भावनाओं का दोहन कर रहे हैं.’

शर्मा ने कहा कि कांग्रेस प्रधानमंत्री मोदी को देश को गुमराह करने और झूठ नहीं बोलने देगी.

गौरतलब है कि गुजरात में कांग्रेस कार्य समिति की बैठक करीब 58 वर्षों के बाद हुई है. इससे पहले 1961 में गुजरात में सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई थी.

Related posts

लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा नहीं: कौल सिंह

digitalhimachal

13 दिवसीय बजट सत्र में हिमाचल सरकार की 13वीं करेगी कांग्रेस: रजनी पाटिल

digitalhimachal

कांग्रेस के मैनिफेस्टो पर BJP का हमला, अरुण जेटली बोले- घोषणा पत्र में किए गए वादे खतरनाक

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy