Technology News in Hindi

जानें फुल डिटेल – किस चैनल की है कितनी कीमत और केबल ऑपरेटर को देने होंगे कितने पैसे

ट्राई यानि टेलीकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने देश में केबल व डीटीएच सेवाओं में बड़ा बदलाव किया है। ट्राई ने यूजर्स को आजादी दी है कि अब बंडल में चैनल लेकर मासिक शुल्क देने जरूरत नहीं है बल्कि अपनी पसंद व अपनी मर्जी अनुसार ग्राहक अपने चैनल चुन सकते हैं। अभी तक जहां लोकल केबल ऑपरेटर तथा डीटीएच कंपनियों की ओर से पैक दिए जाते थे व मासिक शुल्क फिक्स रहता था, वहीं अब आम जनता को सिर्फ उन्हीं चैनल्स के पैसे देने होंगे जिन्हें उन्होंने अपनी पंसद के अनुसार चुना है। ट्राई ने अपने नये नियम लागू करने की तिथि 31 दिसंबर रखी है। यदि आप भी जानना चाहते हैं कि आपका डीटीएच व केबल ऑपरेटर किस कीमत पर कौन-से चैनल देगा तो आगे हमनें विस्तार से जानकारी दी है।

ट्राई ने डीटीएच सर्विस व केबल ऑपरेटर्स को 31 दिसंबर से नए नियमों का पालन करने हुक्म दे दिया है। सबसे पहले आपको बता दें कि ट्राई के नए नियम के अनुसार कब सिर्फ उसी चैनल के पैस देने होंगे जो आप देखना चाहते हैं। हर चैनल का रेट फिक्स है। पहले केबल ऑपरेटर व डीटीएच सर्विसेज की ओर से मासिक पैकेज दिया जाता था और उपभोक्ता को भी उस पैकेज के पैसे चुकाने होते थे। इस पैकेज में कौन सा चैनल किस कीमत का है तथा कौन सा चैनल फ्री है यह जानकारी ​कभी भी यूजर्स को नहीं दी जाती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

अब यूजर्स अपनी मर्जी से अपने पसंदीदा चैनल का चुनाव कर सकते हैं तथा उपभोक्ताओं को डीटीएच व केबल ऑपरेटर्स द्वारा दिए जाने वाले चैनल पैक को जबरदस्ती लेना नहीं होगा, बल्कि अपनी मर्जी से उस पैक में अपने पसंदीदा चैनल डाल सकेंगे। एक ओर जहां उपभोक्ता अपनी मर्जी से चैनल का चुनाव कर सकते हैं वहीं डीटीएच ऑपरेटर्स ने भी यूजर्स की सुविधा के लिए चैनल्स का बुफे या​नि पैकेज बनाया है। इस पैकेज में अलग-अलग चैनल्स होंगे जो अपनी कीमत के हिसाब से ही यूजर्स को दिए जाएंगे।

2018: कुछ तकनीकी यादें जिसे नहीं भूलेंगे आप

डीटीएच सर्विसेज़ की बात करें तो इन्होंने अलग-अलग चैनल्स के प्रारूप में लिस्ट बनाई है। यह पैकेज चैनल ग्रुप्स के अनुसार व चैनल्स की कैटेगरी के अनुसार भी है। उदाहरण के तौर पर ज़ी नेटवर्क के चैनल का अगल पैकेज, स्टार चैनल्स का अलग पैकेज। इसी तरह बच्चों के लिए कार्टून चैनल्स का अलग पैकेज और मूवीज़, न्यूज, इंफोटेंमेंट व स्पोर्ट्स चैनल्स का अलग पैकेज। ये पैकेज अलग-अलग क्षेत्रिय भाषाओं के अनुसार भी हैं।

वीडियोकॉन डी2एच ने अपने आ-ला-कार्ट चैनल्स का न्यूनतम मूल्य 150 रुपये रखा है। इसमें हर कैटेगरी के एचडी चैनल्स भी शामिल हैं। इसी तरह लोकल केबल नेटवर्क की बात करें तो डेन नेटवर्क ने अपने पैक्स की शुरूआत 4 रुपये से की है जो 145 रुपये तक की है। वहीं सिटी केबल ऑपरेटर ने ट्राई के नियमों के बाद भी अपने यूजर्स की सहूलियत के लिए पैकेज बनाएं हैं। सिटी केबल के पैकेज को 52.2 रुपये से लेकर 166 रुपये तक की कीमत पर खरीदा जा सकता है।

अपने डीटीएच ऑपरेटर व केबल प्रोवाइडर के पैक तथा पैकेज जानने तथा चुनने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक करें :

वीडियोकॉन डी2एच
डिश टीवी
टाटा स्काई
एयरटेल डिजीटल टीवी
डेन नेटवर्क
सिटी केबल

आपको बता दें कि ट्राई के नए नियम अनुसार केबल व डीटीएच पर अब हर माह न्यूनतम 130 रुपये का फिक्स शुल्क देना होगा। इस 130 रुपये के शुल्क में यूजर्स को 100 चैनल्स दिए जाएंगे। इन 100 चैनल्स में 26 चैनल जहां दूरदर्शन के होंगे वहीं 74 चैनल निजी कंपनियों के होंगे। इस पैक में मिल रहे 74 निजी चैनल भी यूजर अपनी मर्जी से चुन पाएंगे। जो चैनल उन्हें देखने है वही 74 चैनल उनके टीवी पर आएंगे। गौरतलब है कि ये 74 चैनल फ्री-टू-एयर होंगे।

ये हैं जियो को लंबी वैलिडिटी वाले प्लान, 999 रुपए से होते हैं शुरू

नई गाइउलाईन के बाद हर चैनल का यह फिक्स प्राइस तय किया गया है। जो 50 पैसे से शुरू होकर अधिकतम 19 रुपये तक है। ट्राई की ओर नए सेटअप बॉक्स लगाने व नए केबल कनेक्शन का शुल्क भी 350 रुपये तय किया गया है। इन 74 फ्री-टू-एयर चैनल्स के अलावा यूजर अपनी पंसद से अन्य चैनल भी पा सकते हैं जो पेड होंगे। 100 से अधिक चैनल्स के लिए ग्राहकों को अतिरिक्त चैनल का शुल्क चुकाना होगा जो 130 रुपये में जुड़ जाएगा। आपको फिर से बता दें कि अतिरिक्त चैनल का यह शुल्क 50 पैसे की कीमत से शुरू होगा और अधिकतम 18 रुपये तक चलेगा

Source

Related posts

Whatsapp को Face या Touch ID से कर पाएंगे लॉक, नया फीचर हुआ रोलआउट

digitalhimachal

Samsung के पेटेंट S Pen में हो सकता है बिल्ट-इन कैमरा और ऑप्टिकल ज़ूम

digitalhimachal

JIO: मुकेश अंबानी बनना चाहते हैं देश के पहले इंटरनेट टायकून

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy