Technology News in Hindi

1 फरवरी से बदल जाएगा आपके TV देखने का तरीका, जानें सभी जरूरी डिटेल्स

टेलिकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने केबल टीवी और डायरेक्ट टू होम सब्सक्रिप्शन के नियमों में बदलाव किए हैं जो 1 फरवरी से लागू हो जाएंगे। तब तक केबल ऑपरेटर्स और डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर अपने प्लान्स को जारी रख सकते हैं। हालांकि, ज्यादातर यूजर्स इन प्लान्स से ज्यादा खुश नहीं हैं। क्योंकि इन प्रवाइडर्स के चैनल पैक्स में से यूजर्स के काम के कुछ चुनिंदा चैनल्स ही होते हैं। अपने मनपसंद चैनल्स को देखने के लिए उन्हें पूरे प्लान के पैसे देने होते हैं। यूजर्स ऐसे चैनल्स के लिए भी पैसे देते हैं जो उन्हें नहीं देखने होते हैं। इसी समस्या का निदान करने के लिए TRAI ने केबल टीवी के नियमों में बदलाव कर दिए हैं।

केबल टीवी के नियमों में हुए बदलाव:

इसके तहत यूजर्स को केवल उन्हीं चैनल्स का पैसा देना होगा जो वो देखना चाहते हैं। इससे सबसे यूजर्स की टीवी खर्च भी कम हो जाएगा। TRAI ने ब्रॉडकास्टर्स को कहा था कि उन्हें हर चैनल के टैरिफ और पैकेजेज यूजर्स को देने होंग। यूजर्स को केवल उन्हीं चैनल्स का शुल्क देना होगा जिसे वो देखना चाहत हैं। चैनल की कीमतों को सुनिश्चित करने के लिए, TRAI ने ब्रॉडकास्टर्स से हर चैनल के साथ उसकी कीमत बताने के भी निर्देश दिए थे। चैनल की कीमत से अलग यूजर्स को सर्विसेज का इस्तेमाल करने के लिए बेस प्राइस भी देना होगा। यह बेस प्राइस 100 रुपये है जिसमें 25 चैनल दिए गए हैं। ये सभी सरकारी चैनल्स हैं। बेस प्राइम अधिकतम शुल्क 130 रुपये (प्लस टैक्स) हो सकता है। अलग-अलग ऑपरेटर्स के मुताबिक, यह बेस प्राइस अलग-अलग हो सकता है।

यूजर्स पेड चैनल्स में से किसी भी चैनल का चुनाव कर सकते हैं। इसका सीधा मतलब यह है कि यूजर्स अपने खुद के पैकेज बना सकते हैं। यूजर्स को केवल उसी चैनल के पैसे देने होंगे जो वो देखना चाहते हैं। TRAI ने कहा था कि कोई भी ब्रॉडकास्टर 19 रुपये से ज्यादा किसी भी चैनल की कीमत नहीं रख सकता है। पेड चैनल्स लेने का मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि ब्रॉडकास्टर्स अपने मुताबिक कोई पैकेज नहीं बनाएंगे। ब्रॉडकास्टर्स की वेबसाइट पर उन्होंने कई चैनल्स को एक साथ कर पैकेज बना दिया है जिसे यूजर्स ले सकते हैं।

TRAI ने यूजर्स का कंफ्यूजन किया दूर:

पिछले दिनों कुछ ऐसी रिपोर्ट्स सामने आई थी जिसमें इस बात पर कंफ्यूजन थी कि बेस पैक में कौन से चैनल शामिल किए जाएं या यूजर्स केवल DTH और केबल ऑपरेटर्स द्वारा दिए जा रहे प्लान्स का ही चुनाव कर सकते हैं। इस कंफ्यूजन को दूर करने के लिए TRAI ने एक नया आदेश जारी किया है। TRAI ने अपनी प्रेस रिलीज ने कहा है कि कुछ ब्रॉडकास्टर्स बंडल्स प्लान्स के तहत अपने चैनल्स का विज्ञापन दे रहे हैं। हालांकि, यूजर्स को उनके मनपसंद चैनल चुनने का भी पूरी अधिकार है। साथ ही यह भी कहा कि हर चैनल का मैक्सिमम रिटेल प्राइस (MRP) टीवी की इलेक्ट्रॉनिक प्रोग्राम गाइड में दिया गया है। केबल ऑपरेटर्स, DTH ऑपेटर्स अपने मुताबिक, चैनल्स पर डिस्काउंट भी दे सकते हैं।

TRAI ने की नए कैंपेन की शुरुआत:

TRAI ने Cable TV के नए नियमों के बारे में यूजर्स को बताने के लिए SMS कैंपेन की शुरूआत की है। TRAI ने 12 जनवरी से एक SMS मार्केटिंग कैंपेन की शुरुआत की है, जिसमें यूजर्स को केबल टीवी के नए नियमों के बारे में अवेयर किया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक TRAI ने लाखों टेक्स्ट मैसेज इस SMS कैंपेन के तहत भेजे हैं। TRAI के यूजर्स को दो SMS भेजे हैं। इनमें लिखा है, TRAI का नया रेग्युलेशन टीवी उपभोक्ता को उन चैनल्स के पैसे देखने के लिए कहता है जो वह देख रहा है।

TRAI ने जारी की वेब ऐप्लीकेशन:
TRAI ने चैनल सिलेक्शन प्रोसेस को आसान बनाने के लिए एक नई वेब ऐप्लीकेशन लॉन्च की है। चैनल सेलेक्टर ऐप्लिकेशन यूजर की पसंद को समझेगा और चैनल की लिस्ट दिखाएगा। साथ ही आप जो भी चैनल चुनना चाहते हैं उसकी MRP भी बताई जाएगी। यह ऐप यूजर से कुछ सवाल करेगी। इसी के आधार पर यह यूजर को उसके पसंद के चैनल की लिस्ट दिखाएगी। TRAI की इस नए ऐप के जरिए यूजर्स मंथली रेंटल भी जान पाएंगे।

नए नियमों के तहत कोई भी DTH प्रोवाइडर जैसे Airtel DTH TV, Tata Sky या Dish TV 100 नॉन-एचडी चैनल्स के लिए 130 रुपये (बिना GST) से ज्यादा चार्ज नहीं कर सकते हैं। वहीं, अगर यूजर किसी पेड चैनल का चुनाव करते हैं तो उन्हें उसकी MRP की राशि देनी होगी। TRAI के नए आदेश के मुताबिक, Sony, Zee, Star, Discovery, Sun, Turner और Viacom ने उन टीवी चैनल्स की जानकारी दे दी है जो फ्री टू एयर के अंतर्गत आते हैं और जिनके लिए पैसा देना होगा।

Source

Related posts

iPhone सेल: सभी मॉडल्स पर मिल रही है भारी छूट

digitalhimachal

iQOO फ्लैगशिप डिवाइस की हैंड्स-ऑन विडियो आई सामने

digitalhimachal

JIO: मुकेश अंबानी बनना चाहते हैं देश के पहले इंटरनेट टायकून

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy