Himachal

पाकिस्तान से भारत लौटे वायुसेना के हीरो विंग कमांडर अभिनंदन, बोले- अच्छा लग रहा है

पाकिस्तानी विमानों द्वारा भारतीय वायुसीमा के उल्लंघन के दौरान अदम्य वीरता का प्रदर्शन करने वाले विंग कमांडर अभिनंदन शुक्रवार रात को पाकिस्तान से स्वदेश वापस लौट आए. उनकी वापसी से पहले के कुछ घंटे संशय से भरे रहे.
भारतीय विंग कमांडकर अभिनंदन पाकिस्तान के कब्जे से स्वदेश लौट आए हैं. आटारी वाघा बॉर्डर के रास्ते शुक्रवार रात 9 बजकर 21 मिनट पर उन्होंने भारतीय सीमा में प्रवेश किया. जिसके बाद उन्हें अमृतसर से दिल्ली लाया गया, जहां वायु सेना के स्टैंडर्ड ऑपरेशन प्रोसीजर के तहत सबसे पहले उनका मेडिकल टेस्ट होगा. अभिनंदन को वायु सेना के विमान से पालम एयरपोर्ट लाया गया. जहां से उन्हें दिल्ली के आरआर अस्पताल ले जाया गया, यहीं पर उनकी मेडिकल जांच होगी. वर्धमान को शनिवार को ‘डीब्रिफिंग’ से गुजरना होगा जिसमें सेना और गुप्तचर एजेंसियों के अधिकारियों की मौजूदगी में उनकी शारीरिक जांच भी शामिल है.

गुरुवार को ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ये ऐलान कर दिया था कि शुक्रवार को विंग कमांडर अभिनंदन को छोड़ दिया जाएगा. जब ये खबर आई कि वाघा बॉर्डर से होकर विंग कमांडर अभिनंदन की वतन वापसी होगी तो यहां चाहने वालों का मजमा लग गया. हर कोई उनकी एक झलक पाने को बेताब था लेकिन पायलट के आने में देर होती रही.

ऐसे खत्म हुआ लोगों का इंतजार

पहले खबर मिली कि शुक्रवार को दोपहर 12 बजे तक विंग कमांडर अभिनंदन हिंदुस्तान वापस लौट आएंगे. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. फिर खबर आई कि शाम 3 बजे के करीब वाघा-अटारी बॉर्डर से पायलट अभिनंदन की स्वदेश वापसी होगी और पाकिस्तान रेंजर्स पायलट अभिनंदन को बीएसएफ को सौंपेंगे. लेकिन भारत ने उसी दौरान ये साफ कर दिया कि वो आज बीटिंग रीट्रीट नहीं करेगा. उसके बाद खबर आई कि पायलट अभिनंदन शाम 6 बजे के करीब स्वदेश की धरती पर अपना कदम रखेंगे. इस बीच हजारों की तादाद में आम हिंदुस्तानी अपने नायक की एक झलक देखने के लिए मचल रहे थे. हालांकि, रात 9 बजकर 17 मिनट पर अचानक बॉर्डर पर हलचल तेज हुई और 9 बजकर 21 मिनट पर हिंदुस्तान का टाइगर वतन लौटा.

देशभर में मना जश्न

देशभर में अलग-अलग स्थानों पर देशभक्ति का रंग सहज ही देखा जा सकता था. अहमदाबाद में गरबा के दृश्य देखे गए तो बेंगलुरु में लोग नृत्य करते मिले. पुरी में बालू की कलाकृतियां तैयार की जा रही थी, वहीं अलग अलग स्थानों पर यज्ञ भी आयोजित किए गए.

शुक्रवार की रात अभिनंदन राजधानी दिल्ली पहुंचे. काफी संख्या में मौजूद लोगों ने पालम हवाई अड्डे पर उनका शानदार स्वागत किया. वहां से अभिनंदन को जांच के लिए आरआर अस्पताल ले जाया जाएगा. वर्धमान को 27 फरवरी को दोनों देशों के विमानों के बीच हवाई संघर्ष होने पर उनके मिग 21 विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद पाकिस्तान द्वारा पकड़ लिया गया था. वह लगभग 3 दिन तक पाकिस्तान की कैद में रहने के बाद स्वदेश लौटे.

दरअसल, भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तानी सीमा में जैश ए मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया. उसके बाद पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से भारत की वायुसीमा का उल्लंघन किया गया और इस दौरान हुए हवाई संघर्ष में पाकिस्तान का एक एफ-16 विमान गिरा दिया गया एवं भारत का मिग 21 दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस संघर्ष के परिणामस्वरूप विंग कमांडर अभिनंदन का पैराशूट सीमा पार कर गया और उन्हें 27 फरवरी को पाकिस्तान ने पकड़ लिया.

माना जा रहा एक बड़ा कदम

हालांकि, भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति को कम करने की दिशा में यह एक बड़ा कदम है जो कि आतंकवाद के खिलाफ पड़ोसी देश के निरंतर समर्थन पर भारत की जवाबी कार्रवाई के कारण पैदा हुए थे. अभिनंदन रात 9.10 बजे वाघा चेकपोस्ट पर पाकिस्तान की ओर खड़े दिखे. इस दौरान उनके साथ पाकिस्तानी रेंजर, इस्लामाबाद में उच्चायोग में भारतीय एयर अताशे मौजूद थे. पाकिस्तान सीमा में अभिनंदन की जब पहली तस्वीर सामने आई तो उनके साथ एक महिला दिख रही थी. आपको बता दें कि ये महिला डॉक्टर फारिहा बुगती हैं. वो पाकिस्तान विदेश विभाग की अधिकारी हैं. वो भारतीय मामलों को देखती हैं. फारिहा की कुलभूषण जाधव के केस को देख रही हैं.

भारत में कदम रखते ही बोले अभिनंदन- अच्छा लग रहा है

गर्व से सिर ऊंचा किए विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तान से गेट पार करके भारत में प्रवेश किया. सीमा पार करते ही बीएसफ के अधिकारियों ने आगे बढ़कर वीर अभिनंदन की अगवानी की. पाकिस्तान से आए अधिकारी ने कागजात बढ़ाए. उनपर हस्ताक्षर किए. अभिनंदन की आंखें वतन से इश्क में छलछलाई हुई थीं. होंठ मुस्कुरा रहे थे और उनके पहले शब्द थे अब अच्छा लग रहा है.

राजनीतिक हस्तियों ने कहा- अभिनंदन आप पर गर्व है..
.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन पलों के इंतजार में थे. उन्होंने फौरन ट्वीट किया आपके अदम्य साहस से देश गौरवान्वित है. इसके बाद अभिनंदन की वतन वापसी पर उन्हें बधाई देने वालों का सोशल मीडिया पर तातां लग गया. पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘विंग कमांडर अभिनंदन आपका घर में स्वागत है. राष्ट्र को आपके अदम्य साहस पर गर्व है. हमारे सशस्त्र बल देश के 130 करोड़ भारतीयों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं.’

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट किया, ‘विंग कमांडर अभिनंदन का स्वागत! देश को आपके अनुकरणीय साहस पर गर्व है. हमारे सशस्त्र बल 130 करोड़ भारतीयों के लिए एक प्रेरणा हैं. वन्दे मातरम.’ गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्विटर पर लिखा, स्वागत. पूरे देश को विंग कमांडर अभिनंदन पर गर्व है.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट किया, ‘आपके साहस की प्रशंसा विंग कमांडर अभिनंदन! आपका स्वागत है. आपका अभिनंदन. जय हिंद. भारत माता की जय.’ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को वर्धमान की वापसी का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘पराक्रम’ को दिया. उन्होंने मोदी के संदर्भ में कहा, ‘संघ (आरएसएस) को आज इस तथ्य पर गर्व हो सकता है कि भारत का एक बेटा एक स्वयंसेवक के ‘पराक्रम’ के कारण 48 घंटे में भारत लौट रहा है.’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘अभिनंदन आपका वतन वापस लौटने, प्यारे वतन लौटने पर स्वागत.’ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘विंग कमांडर अभिनंदन का स्वागत है. मैं आपकी बहादुरी और आपके परिवार के साहस को सलाम करता हूं.’

इसके अलावा आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू, जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राजद नेता तेजस्वी यादव, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, समाजवादी पार्टी प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, माकपा नेता सीताराम येचुरी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी समेत कई राजनीतिक हस्तियों ने अभिनंदन का दिल से स्वागत किया.

source

Related posts

कांग्रेस पार्टी के पास हमीरपुर लोकसभा से एक से बढ़कर एक जिताऊ उम्मीदवार – राणा

digitalhimachal

दिल्ली में शीर्ष उद्योगपतियों से मिले CM जयराम, हिमाचल में निवेश का दिया न्यौता

digitalhimachal

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के दिए टिप्स

digitalhimachal

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy